बेबी प्रोडक्ट में मिले कैंसर कारक तत्व, 33 हजार पाउडर बोतलों को मंगाया वापस

    0
    20

    New Delhi/AtulyaLoktantra : बेबी प्रोडक्ट के जरिए हर घर में जगह बनाने वाली अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन सवालों के घेरे में है। कंपनी ने अमेरिकी में लगभग 33 हजार बेबी पाउडर के बोतलों को वापस मंगाया है। न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक बेबी पाउडर के नमूनों में एस्बेस्टस की मात्रा का पता लगा है.

    क्या होता है एस्बेस्टस?
    एस्बेस्टस एक घातक कार्सिनोजेन है जिससे इंसानों में कैंसर बढ़ने का खतरा होता है. यह पहली बार है जब अमेरिका की स्वास्थ्य नियामकों ने प्रोडक्ट में एस्बेस्टस की मात्रा का पता लगाया है. वहीं पहली बार कंपनी ने अपने बेबी पाउडर प्रोडक्ट को बाजार से वापस मंगाया है।

    कंपनी की ओर से कहा गया है कि एक ऑनलाइन रिटेलर से सिंगल बोतल खरीदी गई थी. इसके बाद परीक्षण के लिए स्वेच्छा से #22318RB लॉट को वापस बुलाया गया है, जिसके 33 हजार बॉटल्स हैं. इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि पिछले 40 साल में हजारों टेस्ट ने बार-बार इस बात कि पुष्टि की है कि हमारे पाउडर में एस्बेस्टस नहीं है. बहरहाल, इस खबर के बाद अमेरिकी शेयर बाजार में जॉनसन एंड जॉनसन के शेयर 6 फीसदी लुढ़क गए और 127.70 डॉलर के भाव पर बंद हुए.

    बता दें कि अमेरिकी फार्मा कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन की बेबी पाउडर, शेम्‍पू और साबुन के जरिए भारत समेत दुनिया के अन्य देशों में एक खास पहचान है. हालांकि कंपनी को अपने कई प्रोडक्ट की वजह से मुकदमा और जुर्माने का सामना करना पड़ा है. हाल ही में एक शख्श ने प्रोडक्ट पर सवाल खड़ा करते हुए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. इस मामले की सुनवाई के दौरान जॉनसन एंड जॉनसन को दोषी पाया गया और 8 बिलियन डॉलर का जुर्माना लगा है.

    भारत में भी कई बार जॉनसन एंड जॉनसन विवादों के घेरे में रही है. बीते अप्रैल में कंपनी के बेबी शैंपू पर सवाल खड़े हुए थे तो वहीं मई महीने में दिल्ली हाईकोर्ट ने जॉनसन एंड जॉनसन को 67 मरीजों को 25-25 लाख रुपये का मुआवजा देने का निर्देश दिया था। कोर्ट ने यह फैसला दोषपूर्ण कूल्हा प्रत्यारोपण उपकरण मुहैया कराने के मामले में दिया.

    Previous Most Popular News Storiesबॉलीवुड सेलेब्स हुए नरेंद्र मोदी के फैन
    Next Most Popular News Storiesदिल्ली रेलवे लाइन पर मिला शख्स का शव, संदिग्ध परिस्थिति में हुई मौत
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here