महाराष्ट्र : बीजेपी- शिवसेना की खींचतान के बीच बीजेपी विधायक दल की बैठक

    0
    8

    New Delhi/AtulyaLoktantra : महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है. शिवसेना भाजपा को 50-50 फॉर्मूले की याद दिला रही है, लेकिन बीजेपी की ओर से इसपर कोई खास तवज्जो नहीं दी जा रही है. इस सब के बीच आज भाजपा महाराष्ट्र की विधायक दल की बैठक होगी, जिसमें देवेंद्र फडणवीस का विधायक दल का नेता चुना जाना तय है.

    ये बैठक महाराष्ट्र विधान भवन में होगी. केंद्रीय आलाकमान की ओर से नरेंद्र सिंह तोमर, अविनाश राय खन्ना को पर्यवेक्षक बनाया गया है. जो विधायक दल का नेता चुनेंगे. बता दें कि महाराष्ट्र में भाजपा को 105 और शिवसेना को 56 विधायक मिले हैं, कुल 161 का आंकड़ा बहुमत के आंकड़े से काफी अधिक है.

    घमासान के बीच बीजेपी की महाबैठक
    विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को कुल 105 विधायक मिले हैं, लेकिन ये सरकार बनाने के लिए काफी नहीं हैं. बुधवार को बैठक में बीजेपी के सभी विधायक देवेंद्र फडणवीस को विधायक दल का नेता चुनेंगे. शिवसेना के घमासान के बीच देवेंद्र फडणवीस ने ऐलान कर दिया था कि वह ही अगले मुख्यमंत्री होंगे, शिवसेना के साथ 50-50 फॉर्मूले के तहत मुख्यमंत्री पद का वादा नहीं किया गया था.

    भारतीय जनता पार्टी को लगातार निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिलता जा रहा है. साहूवाडी से जनसूर्या पार्टी के विधायक विनय कोरे, युवा स्वाभिमानी पार्टी के रवि राणा, मीरा-भयंडर से गीता जैन, बारसी से राजेंद्र राउत, उरान से महेश बाल्दी, गोंदिया से विनोद अग्रवाल अभी तक महाराष्ट्र में भाजपा को अपना समर्थन दे चुके हैं.

    शिवसेना की ओर से लगातार मुख्यमंत्री पद की मांग की जा रही है. शिवसेना के संजय राउत का कहना है कि चुनाव से पहले भाजपा ने 50-50 फॉर्मूले का वादा किया था, जो मीडिया के सामने की ही बात है. इसी के तहत मुख्यमंत्री पद शिवसेना को मिलना चाहिए. शिवसेना के सामना में भी लगातार इस बारे में बात कहा जा रहा है. बीजेपी और शिवसेना के बीच इस मसले पर लगातार विवाद चल रहा है

    Previous Most Popular News Storiesअब प्लेटफॉर्म टिकट से भी कर सकते हैं रेलयात्रा, जानिए कैसे
    Next Most Popular News Storiesकर्नाटक में पलटी यात्रियों से भरी बस, 5 की मौत 15 घायल
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here