पीएम मोदी सऊदी अरब में फ्यूचर इनवेस्टमेंट इनिशिएटिव में होंगे शामिल

    0
    11

    New Delhi/Atulya Loktantra : पीएम मोदी दो दिन की सऊदी अरब की यात्रा पर गए हैं। वह फ्यूचर इनवेस्टमेंट इनिशिएटिव में शामिल होंगे। यह कारोबार और निवेश का एक बड़ा वैश्विक मंच है. पीएम नरेंद्र मोदी अपनी दो दिवसीय यात्रा पर सोमवार को सऊदी अरब पहुंचे हैं. वह सऊदी अरब में कई कार्यक्रमों के अलावा कारोबार और निवेश के हिसाब से महत्वपूर्ण फ्यूचर इनवेस्टमेंट इनिशिएटिव (FII) के तीसरे संस्करण में भी शामिल होंगे. यह 29 से 31 अक्टूबर तक आयोजित हो रहा है. यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी अरब की दूसरी यात्रा है, जिसमें वह अन्य कूटनीतिक रिश्तों के साथ ही निवेश और आर्थिक विकास को गति देने की संभावनाओं को भी तलाशेंगे.

    फ्यूचर इनवेस्टमेंट इनिशिएटिव सऊदी अरब के रियाद शहर में आयोजित होने वाला एक सालाना निवेश मंच है. इसमें वैश्विक अर्थव्यवस्था और निवेश वातावरण के ट्रेंड पर चर्चा होती है. इसका आयोजन सऊदी अरब के पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड (PIF) द्वारा किया जाता है. इसकी प्रतिष्ठा की वजह से इसे ‘रेगिस्तान का दावोस’ भी कहते हैं. गौरतलब है कि स्व‍िट्जरलैंड के शहर दावोस में दुनिया के सबसे बड़े इकोनॉमी-बिजनेस के कार्यक्रम वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम का आयोजन किया जाता है. पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड सऊदी अरब का मुख्य सॉवरेन यानी सरकारी वेल्थ फंड है, जिसको आर्थ‍िक एवं सामाजिक सुधार कार्यक्रम के सऊदी विजन 2030 के परिप्रेक्ष्य में तैयार किया गया है.
    फाइव ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखने वाले भारत के लिए भी यह आयोजन काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि दुनिया के प्रमुख निवेशकों के सामने अपने यहां बन रहे अवसरों के बारे में बताने का मौका मिलेगा. पीएम मोदी मंगलवार शाम को इस कार्यक्रम के मुख्य वक्ता होंगे. कॉन्फ्रेंस में अपने संबोधन के बाद वह मॉडरेटर के साथ संवाद भी करेंगे. सऊदी अरब के लिए रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने कहा था कि वह इस मंच में वैश्विक निवेशकों के लिए भारत में बढ़ते व्यापार और निवेश के अवसरों के बारे में बताएंगे और उन्हें यह भी बताएंगे कि किस तरह से भारत 2024 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनने जा रहा है. इस कार्यक्रम में रिलायंस समूह के चेयरमैन मुकेश अंबानी सहित कई दिग्गज भारतीय कारोबारी भी शामिल हो सकते हैं.

    इस सालाना निवेश कार्यक्रम का इस बार की थीम है-‘व्हाट इज नेक्स्ट फॉर ग्लोबल बिजनेस’ यानी वैश्विक कारोबार में आगे क्या होगा. सऊदी अरब के पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम एक उच्च स्तरीय प्लेटफॉर्म है जिसमें सऊदी अरब के नीति-नियंताओं और वैश्विक कारोबारी प्रतिनिधियों से मिलने का मौका मिलता है. इसका पहला आयोजन अक्टूबर 2017 में हुआ था और तब NEOM को लॉन्च किया गया था, जो कि सऊदी अरब के उत्तर-पश्चिम में 500 अरब डॉलर के निवेश के साथ बनने वाला स्वतंत्र आर्थ‍िक क्षेत्र था. इसका दूसरा सालाना आयोजन 23 से 25 अक्टूबर 2018 में किया गया. इस साल का आयोजन 29 से 31 अक्टूबर तक हो रहा है. इसमें दुनिया भर के इंडस्ट्री जगत के अगुआ, नीति-नियंता, एक्सपर्ट, निवेशक शामिल होते हैं और इस बात की चर्चा करते हैं कि किस तरह से वैश्विक समृद्धि और विकास को संभव बनाया जा सकता है.

    कारोबार और निवेश के मुख्य कार्यक्रम के अलावा एफआईआई में तीन अन्य समिट भी होंगे, जिनमें इस बात पर विचार होगा कि कारोबार, मनोरंजन और समाज में बदलाव किस तरह से इनोवेशन को बढ़ावा दे रहे हैं और निवेश के अवसर तैयार कर रहे हैं. इस बार ऐसे पहले समिट में टेक्नोलॉजी, जनसांख्यिकी और कारोबारी मॉडल में नए विकास से कार्य की प्रकृति में बदलाव आ रहा है. दूसरा समिट इंटरैक्टिव एंटरटेनमेंट पर फोकस होगा और इस बात का परीक्षण किया जाएगा कि इनोवेशन, ग्लोबलाइजेशन और कंज्यूमर बिहेवियर से किस तरह से खेल, मनोरंजन और लीशर की दुनिया प्रभावित हो रही है.

    तीसरे समिट में इस बात पर विचार होगा कि किस तरह से दुनिया भर की इंटरकनेक्टेड सोसाइटी और सरकारें इंटेलीजेंट सिस्टम, एडवांस मोबिलिटी, नए एजुकेशन मॉडल और शहरों एवं समुदायों में ज्यादा से ज्यादा सांस्कृतिक जागरूकता को अपनाने की कोशिश कर रही हैं. पिछले साल FII के दौरान करीब 60 अरब डॉलर के समझौते हुए थे, जिनमें ऊर्जा, हाउसिंग, हेल्थकेयर और आईसीटी जैसे सेक्टर में बड़ी निवेश घोषणाएं शामिल थीं. इसके पहले पीएम मोदी साल 2016 में रियाद गए थे, तब उन्हें सऊदी अरब का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया गया था.

    Previous Most Popular News Storiesआज से बसों में फ्री सफर करेंगी दिल्ली की महिलाएं
    Next Most Popular News Storiesमुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से दिल्ली में की मुलाकात
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here