तीसरी कोरिया: भारत मैत्री क्विज प्रतियोगिता 2018

0
105
Third Korea India Friendship Quiz Competition 2018
Third Korea India Friendship Quiz Competition 2018

Atulya loktantra Delhi News: 60 स्कूलों के 20,384 छात्रों ने तीसरी कोरिया – इंडिया मैत्री क्विज़ प्रतियोगिता 2018 में भाग लिया.

उनमें से 4 ने कोरिया की मुफ्त यात्रा जीती।कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र भारत द्वारा अंतरराष्ट्रीय विषय पर स्कूल के छात्रों के लिए दिल्ली एनसीआर की सबसे बड़ी क्विज प्रतियोगिता आयोजित की गई.

Third Korea India Friendship Quiz Competition 2018
Third Korea India Friendship Quiz Competition 2018

कोरिया गणराज्य के राजदूत महामहिम शिन बोंग-किल ने विजेताओं को पुरस्कार दिए. शीर्ष चार विजेताओं को 6 दिनों और 5 रातों के लिए दक्षिण कोरिया की मुफ्त यात्रा मिली.

शेष 20 विजेताओं को कुल 51000 रुपये के नकद पुरस्कार मिले. कोरिया-भारत मैत्री क्विज प्रतियोगिता एक अनोखी और अभूतपूर्व परियोजना है जो भारतीय छात्रों से कठिन सवालों के बुद्धिमान उत्तरों के रूप में दिल को छूने की उत्कृष्टता लाने में सफल रही.

तीसरी कोरिया: भारत मैत्री क्विज प्रतियोगिता 2018

कुछ छात्रों ने गहराई से कोरिया के बारे में ज्ञान प्राप्त किया, जबकि कुछ ने तथ्यों को सीखा. लेकिन उन सबका मार्ग जो भी हो, सभी का गंतव्य एक ही था – कोरिया के बारे में अधिक से अधिक सीखना.

विजेता छात्रों, उनके माता-पिता और प्रिंसिपलों ने मीडिया के साथ बातचीत की और इस प्रतियोगिता के बारे में दिलचस्प कहानियाँ बतायी. कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र के निदेशक, किम कुम-पियोंग ने भारतीय छात्रों की मेहनत की सराहना करते हुए उन्हें प्रमाणपत्र दिए.

तीसरी कोरिया: भारत मैत्री क्विज प्रतियोगिता 2018

कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र भारत के निदेशक किम कुम-पायंग ने कहा, “यह प्रतियोगिता दक्षिण कोरिया और इसकी संस्कृति को भारतीय छात्रों को पेश करने का एक महत्वपूर्ण अवसर है.

मुझे विश्वास है कि वे दक्षिण कोरिया के बारे में जानने के बाद दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों में एक प्रमुख भूमिका निभाएंगे.” कोरियाई पर्यटन संगठन के निदेशक क्वांग जोंग सुल ने सही उत्तर देने वाले दर्शकों को पुरस्कार दिए. दर्शकों में से एक प्रतिभागी ने तीस हजार रुपये से अधिक मूल्य की सैमसंग वाशि

Previous Most Popular News Storiesबाल अपराध पर सख्त है बाल संरक्षण विभाग – बालकृष्ण गोयल
Next Most Popular News Storiesप्रधानमंत्री ने किया मजबूत लोकतन्त्र के लिए प्रेस की आजादी का समर्थन
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here