PM मोदी के नए विमान में एडवांस मिसाइल सिस्टम, भारतीय वायुसेना के पायलट ही उड़ाएंगे

0
11

New Delhi/Atulya Loktantra : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वह विमान जिसमें वे यात्रा करते हैं, उसे अब एयरफोर्स के पायलट उड़ाएंगे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अब इस विमान को एयर इंडिया के पायलट नहीं उड़ाएंगे. भारत के पास अगले साल जुलाई में दो कस्टमाइज्ड बी-777 प्लेन आएंगे. अभी बी-747 हैं, जिसमें प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति यात्रा करते हैं. अब नए दो बी-777 विमानों को अगले साल जुलाई से एयरफोर्स के पायलट उड़ाएंगे. साथ ही इस विमान में नई मिसाइलें लगी होंगी जो आपातकाल की स्थिति में दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब दे सके.

अगले साल जुलाई तक अमेरिकी विमान निर्माता कंपनी बोइंग दो नए बी-777 विमान भारत पहुंचाएगा. इन्हें सिर्फ एयरफोर्स के पायलट ही उड़ाएंगे. इनको एयरइंडिया-वन कहा जाएगा. एयरफोर्स के 4 से 6 पायलटों को एयर इंडिया पहले ही बी-777 उड़ाने की ट्रेनिंग दे चुकी है. इनके अलावा कुछ और पायलटों को भी ट्रेनिंग दी जाएगी. इसमें भी सिर्फ राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ही उड़ेंगे. इन दोनों विमानों में अलग से प्रेस कॉन्फ्रेंस रूम, पेशेंट ट्रांसपोर्ट यूनिट और मेडिकल इमरजेंसी भी होगी. इन दोनों विमानों के भारत आने के बाद सरकार को एयर इंडिया से विमान नहीं लेना पड़ेगा. इन विमानों को खरीदने के लिए केंद्र सरकार ने बजट में अलग से 4469.50 करोड़ का प्रावधान किया था.

इंफ्रारेड काउंटर मिसाइल सिस्टम लगा होगा बी-777 में
इन दोनों बी-777 विमानों में स्टेस-ऑफ-द-आर्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम लगा होगा. इस मिसाइल डिफेंस सिस्टम का नाम है लार्ज एयरक्राफ्ट इंफ्रारेड काउंटरमेजर्स (LAIRCM). इसके अलावा इसमें सेल्फ प्रोटेक्शन सूट्स (SPS) भी होंगे. इन दोनों डिफेंस सिस्टम की कीमत करीब 1349 करोड़ के आसपास है. यही दोनों सुरक्षा प्रणालियां अमेरिकी राष्ट्रपति के एयरफोर्स वन में भी लगे हुए हैं.

ये सुरक्षा उपाय भी होंगे दोनों विमानों में…
12 गार्जियन लेजर ट्रांसमिटर एसेंबलीज. 6 इंस्टॉल होंगे और 6 स्पेयर में रहेंगे
8 LAIRCM आएंगे. दो विमानों में एक-एक लगेंगे, 6 स्पेयर में रहेंगे.
23 मिसाइल वॉर्निंग सेंसर्स. 12 इंस्टॉल होंगे और 11 स्पेयर में रहेंगे.
5 काउंटर मेजर्स डिसपेंसिंग सिस्टम. 2 इंस्टॉल होंगे और 3 स्पेयर में रहेंगे.

एयर इंडिया वन की रक्षा प्रणाली कैसे करेगी काम?
जैसे ही विमान पर किसी तरह के मिसाइल या ग्रेनेड अटैक होगा. इसके सारे सिस्टम ऑटोमैटिकली ऑन हो जाएंगे. सेंसर्स तत्काल अलार्म बजा देंगे और मिसाइल सिस्टम से मिसाइल निकल कर बाहर से आने वाली मिसाइल को प्लेन से दूर ही उड़ा देगी. इसके बाद पायलट को यह सूचना भी मिलेगी कि दुश्मन का मिसाइल ध्वस्त हुआ या नहीं.

Previous Most Popular News Storiesजिला बार एसोसिएशन के अधिकतर अधिवक्ता भाजपा प्रत्याशियों को देंगे समर्थन
Next Most Popular News Storiesभारत दौरे से पहले जिनपिंग का कश्मीर पर यू-टर्न, कहा- UN चार्टर के मुताबिक सुलझे मसला
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here