स्विस बैंकों में रखा सारा पैसा अवैध नहीं – पीयूष गोयल

0
77
All money kept in Swiss banks is not illegal - Piyush Goyal
All money kept in Swiss banks is not illegal - Piyush Goyal

New Delhi/Atulyaloktantra News: स्विस नेशनल बैंक की ओर से जारी नई रिपोर्ट पर मोदी सरकार चौतरफा घिरती नजर आ रही है। इस रिपोर्ट के मुताबिक स्विस बैंकों में भारतीयों का पैसा 50 फीसदी बढक़र 7000 करोड़ रुपये हो गया है।

उन्होंने कहा कि आखिर कुछ लोगों को ऐसा क्यूं लग रहा है कि स्विस बैंकों में रखा हुआ सारा पैसा अवैध है। लेकिन ऐसा नहीं है। यदि किसी भी भारतीय की राशि में अनैतिक लिप्पता पाई गई तो उसपर ठोस कार्रवाई की जाएगी।

कालेधन में कमी के मोदी सरकार के दावे के बीच स्विस बैंक के ये नए आंकड़े सामने आए हैं। अब केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने इस मामले पर मोदी सरकार का पक्ष सामने रखा है। पीयूष गोयल ने कहा है कि इस मामले में कालेधन या अवैध लेन-देने का अनुमान लगाने की जरूरत नहीं है। गोयल ने कहा कि स्विस बैंक में अवैध रूप से बड़ी मात्रा में राशि रखने वालों के खिलाफ यदि कोई सबूत पाया जाता है तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Previous Most Popular News Storiesपरिचय – सांसद मदनलाल सैनी भाजपा के नए प्रदेशाध्यक्ष…
Next Most Popular News Storiesदूरियां बनी नजदीकियां-शिवपाल ने मनाया रामगोपाल का जन्मदिन, काटा केक..
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here