सुप्रिया सुले का बड़ा बयान, महाराष्ट्र में एनसीपी-कांग्रेस में खटपट शुरू

0
14

New Delhi/Atulya Loktantra : महाराष्ट्र में अब एनसीपी-कांग्रेस में खटपट शुरू हो गई है। नई सरकार पर मुंबई में शरद पवार से महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं की मीटिंग की खबर पर एनसीपी नेता सुप्रिया सुले का बड़ा बयान सामने आया है। सुप्रिया सुले ने कहा है कि उनकी बात सिर्फ कांग्रेस अध्यक्ष से ही होती है। दरअसल, कांग्रेस नेता माणिक राव ठाकरे ने कहा था कि सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं को शरद पवार से बात करने को कहा है। इस पर सुप्रिया सुले ने ये कह दिया है कि वो माणिक राव ठाकरे को जानती ही नहीं है।

वहीं अजीत पवार ने कहा है कि जो भी फैसला लिया जाएगा, वह एकसाथ लिया जाएगा। हम कल कांग्रेस के रिस्पॉन्स का इंतजार कर रहे थे, मगर उनकी तरह से कोई जवाब नहीं आया। हम इसका फैसला अकेले नहीं लेंगे। यहां कोई गलतफहमी नहीं है। हमने एक साथ चुनाव लड़ा है और हम साथ हैं।

दूसरी तरफ पवार-सोनिया के दांव के बीच शिवसेना ने अपना रुख कड़ा कर लिया है। शिवसेना ने दो टूक कह दिया है कि सीएम पद पर कोई समझौता नहीं होगा। शिवसेना ने कांग्रेस-एनसीपी को बता दिया कि बीजेपी से सिर्फ सीएम के मुद्दे पर गठबंधन टूटा है।

इस बीच महाराष्ट्र कांग्रेस के सीनियर नेता माणिकराव ठाकरे ने बड़ा बयान दिया। माणिकराव ने कहा कि आज शाम कांग्रेस और एनसीपी के स्टेट लीडर्स की बैठक होगी। इस बैठक में कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनेगा और फिर शिवसेना से बात होगी। माणिकराव ने शिवसेना को हिंदुत्ववादी पार्टी बताया लेकिन दावा किया कि सरकार बनी तो दूसरे धर्मों को कोई दिक्कत नहीं होगी।

दूसरी तरफ महाराष्ट्र में सरकार बनाने की हलचलों के बीच संजय राउत ने एक बार फिर ट्वीट किया है। हालांकि संजय राउत बीमार हैं और कल ही उनकी एंजियोगप्लास्टी हुई है, उसके बावजूद उन्होंने ट्वीट करके एक कविता लिखी है, जिसमें लिखा है, “लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नही होती। हम होंगे कामयाब..जरूर होंगे…।“

Previous Most Popular News Storiesप्रधानमंत्री-राष्ट्रपति की तस्वीर के दुरुपयोग पर होगी छह माह की कैद
Next Most Popular News Storiesराम मंदिर बनाने के लिए नए ट्रस्ट की जरूरत नहीं, मेरा ट्रस्ट ही मुख्य कर्ताधर्ता रहेगा: नृत्य गोपाल दास
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here