जानिए, आज कब होगा चाँद का दीदार

0
44

New Delhi/Atulya Loktantra : 17 अक्टूबर यानी आज करवा चौथ का त्योहार है. इस दिन महिलाएं निर्जला व्रत रखती हैं और रात में चांद देखने के बाद अपना व्रत तोड़ती हैं. ये व्रत सूर्योदय से पहले शुरू होता है जिसे चांद निकलने तक रखा जाता है. इस बीच महिलओं को व्रत और पूजा से जुड़ी कई खाबस बातों का भी ध्यान रखना पड़ता है. आइए जानते हैं इस साल चांद कितने बजे निकलेगा.

पूजा का शुभ मुहूर्त-
करवा चौथ की पूजा का शुभ मुहूर्त 17 अक्‍टूबर की शाम 05 बजकर 46 मिनट से शाम 07 बजकर 02 मिनट तक है. इसकी कुल अवधि 1 घंटे 16 मिनट तक की होगी.

करवा चौथ चंद्रोदय समय-
इस बार करवा चौथ का चांद रात में 8 बजकर 15 मिनट पर निकलेगा. हालांकि उत्तर भारत समते देश के अन्य राज्यों में चांद थोड़ा पहले या देरी से निकल सकता है.

करवा चौथ पर शुभ संयोग
इस बार का करवा चौथ का व्रत बेहद खास है. 70 साल बाद करवा चौथ पर इस बार शुभ संयोग बन रहा है. इस बार रोहिणी नक्षत्र के साथ मंगल का योग होना करवा चौथ को अधिक मंगलकारी बना रहा है.

ज्योतिषियों के अनुसार रोहिणी नक्षत्र और चंद्रमा में रोहिणी का योग होने से मार्कण्डेय और सत्याभामा योग इस करवा चौथ पर बन रहा है. पहली बार करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं के लिए ये व्रत बहुत अच्छा है.

करवा चौथ में पूजन विधि-
व्रत के दिन भोर के वक्त स्नान के बाद करवा चौथ व्रत का आरंभ करें. सूर्योदय के बाद पूरे दिन निर्जला रहें. दीवार पर गेरू से फलक बनाकर पिसे चावलों के घोल से करवा चित्रित करें. आठ पूरियों की अठावरी, हलवा और पक्के पकवान बनाएं। पीली मिट्टी से गौरी बनाएं और उनकी गोद में गणेशजी बनाकर बिठाएं. शुभ मुहूर्त को ध्यान में रखकर कथा सुनें. करवा पर हाथ घुमाकर अपनी सासू मां के पैर छूकर आशीर्वाद लें और करवा उन्हें दे दें.

कैसे करें समापन?-
रात्रि में चन्द्रमा निकलने के बाद छलनी की ओट से उसे देखें और चन्द्रमा को अर्घ्य दें. पति से आशीर्वाद लें. उन्हें भोजन कराएं और स्वयं भी भोजन कर लें. पूजन के बाद अन्य महिलाओं को करवा चौथ की शुभकामनाएं देकर व्रत संपन्न करें.

करवा चौथ के व्रत के लिए जरूरी सामग्री-

इस व्रत में मिट्टी का टोंटीदार करवा और ढक्कन की जरूरत पड़ी है. इसके अलावा दीपक, सिंदूर, फूल, फल, मेवे, रूई की बत्ती, कांसे की 9 या 11 तीलियां, नमकीन, मीठी मठ्ठियां, मिठाई, रोली और अक्षत (साबुत चावल), आटे का दीपक, धूप या अगरबत्ती, पानी का तांबा या स्टील का लोटा, आठ पूरियों की अठावरी और हलवा के की जरूरत पड़ेगी.

करवा चौथ के व्रत के नियम और सावधानियां-
– केवल सुहागिन महिलाएं ही इस व्रत को रख सकती हैं.
– व्रत सूर्योदय से चंद्रोदय तक रखा जाएगा. निर्जल या केवल जल पर ही व्रत रखें.
– व्रत रखने वाली कोई भी महिला काला या सफेद वस्त्र न पहनें.
– व्रत में लाल या पीला वस्त्र पहनना शुभ माना जाता है
– आज के दिन पूर्ण श्रंगार करें
– अगर कोई महिला अस्वस्थ है तो उसके स्थान पर उसके पति यह व्रत कर सकते हैं

Previous Most Popular News Storiesअगले 14 दिन में 6 दिन बंद रहेंगे बैंक, समय से निपटा लें अपना काम
Next Most Popular News Storiesहरियाणा की वो 3 विधानसभा सीटें जहां हमेशा से जीते मुस्लिम कैंडिडेट
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here