तीन महीने में देश को मिलेगा नया आर्मी चीफ, रेस में तीन नाम सबसे आगे

0
22

New Delhi/Atulya Loktantra : भारतीय सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत 31 दिसंबर को रिटायर हो रहे हैं, जिसके चलते उनके उत्तराधिकारी यानी नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. अधिकारियों ने बुधवार को इसकी जानकारी दी. नए सेनाध्यक्ष की रेस में लेफ्टिनेंट जनरल एमएम नरावने, लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह और लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी सबसे आगे चल रहे हैं.

आपको बता दें कि वर्तमान सेनाध्यक्ष के रिटायर होने से चार-पांच महीने पहले से ही नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी जाती है. नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति में रक्षा मंत्रालय का दखल बेहद कम होता है. नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति पर आखिरी फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली कैबिनेट की नियुक्ति कमेटी ही लेगी. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अकेले मंत्री हैं जो नियुक्ति कमेटी में शामिल हैं.

पहले नए सेनाध्यक्ष के चयन का ऐलान वर्तमान सेनाध्यक्ष के रिटायर होने के एक महीने पहले या फिर 45 दिन पहले होता था. हालांकि अब यह धारण बदल गई है. नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया उस समय शुरू की गई है, जब वर्तमान सेनाध्यक्ष बिपिन रावत रिटायर होने वाले हैं और पाकिस्तान के साथ भारत का तनाव गहराया हुआ है. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और सीमा पार से लगातार फायरिंग कर रहा है.

वहीं, बुधवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत के सुरक्षा बल सीमा पार चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हैं. पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों के फिर से सक्रिय होने के सवाल पर राजनाथ सिंह ने कहा कि देश के सुरक्षा बल पूरी तरह से तैयार हैं. वे चेन्नई में तटरक्षक बल के गश्ती जहाज ‘वराह’ की लॉन्चिंग पर पहुंचे थे.

इससे पहले सोमवार को सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने कहा था कि पाकिस्तान ने बालाकोट में अपने आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है. सेनाध्यक्ष रावत का यह बयान उस समय सामने आया, जब वो जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों के बारे में चर्चा कर रहे थे. आपको बता दें कि 14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था, जिसके जवाब में भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को तबाह कर दिया था.

Previous Most Popular News Storiesपंडित N.R. कॉलेज में साइबर क्राइम पर अवेयरनेस वर्कशॉप का आयोजन
Next Most Popular News Storiesजब डॉक्टर को महिला ने चप्पल से पीटा तो अस्पताल ICU में लगी अदालत
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here