हरियाणा : जुलाना हल्के के राजनीतिक समीकरण बदलने में प्रभावी है लाठर परिवार

0
333

जींद/अतुल्यलोकतंत्र : हरियाणा में चुनावों का मौसम शुरू हो चुका है और राजनीति का गुना- भाग चालू हो चुका है । इसी तरह से अगर बात की जाए हरियाणा के जींद जिले की जुलाना विधानसभा सीट की तो यहाँ मौजूदा इनेलो के विधायक परमेन्द्र ढुल भाजपा का दामन थाम चुके हैं और कांग्रेस पार्टी से भी बहुत से नेता जुलाना से टिकट की चाह में है।

जुलाना हल्के की राजनीति में लाठर परिवार को अहम माना जाता है , पिछले दिसम्बर,2018 में पूर्व मंत्री चौधरी सत्यनारायण लाठर का एक सड़क दुर्घटना में स्वर्गवास हो गया था । लाठर साहब का जुलाना में अपना एक अहम रुतबा था, क्योकि उनकी सादगी और मिलनसारी के स्वभाव ने जनता को मोह रखा था , वो हरियाणा सरकार में चेयरमैन रहे, हविपा के जिलाध्यक्ष रहे, सरकार में मंत्री रहे और विधायक रहे लेकिन आज तक घमण्ड नाम की कोई चीज उनमे नही थी, उनके इसी व्यवहार के कारण उनके चले जाने के बाद भी उनके कार्यकर्ताओं की फौज ज्यों की त्यों खड़ी है। बात अगर इनके परिवार की करी जाए तो इनका पौता मोहित लाठर भी अपने दादा जी की तरह खरा उतर रहा है, सभी के सुख-दुख में जाता है सभी को पूरा मान सम्मान देता है और 19 वर्ष की उम्र में अभी से ही मोहित लाठर अपने जुलाना हल्के की जनता के बीच मे सक्रिय है  ।

मोहित की अभी चुनाव लड़ने की उम्र न होने के कारण इस बार लाठर परिवार चुनावी मैदान में तो नही उतर पायेगा लेकिन जुलाना से जीत और हार के गुणाभाग में लाठर परिवार का पूरा हाथ रहेगा | अभी  पिछले दिनों ही मोहित ने जुलाना में अपने आवास पर अपने खासम-खास कार्यकर्ताओ की एक बैठक की थी और इस बैठक में उम्मीद से ज्यादा हाजिरी ने दिखा दिया था कि लोग चौधरी साहब को भूले नही हैं।

लाठर परिवार को हुड्डा परिवार का नजदीकी माना जाता है। चौधरी साहब की इतनी लोकप्रियता के कारण , जुलाना में चौधरी साहब के द्वारा हल्के में करवाये गए 286 करोड़ के विकास कार्यो के बलबूते पर और उनके समर्थकों की इतनी बड़ी फ़ौज होने के कारण अभी से जुलाना स्थित उनके आवास पर अभी से ही दूसरे दलों से भी बड़े-बड़े नेताओं का आवागमन शुरू हो चुका है। इसीलिए जुलाना हल्के में इस चुनाव में हार-जीत में लाठर परिवार की अहम भूमिका रहने वाली हैं।

Previous Most Popular News StoriesFortis Hospital’s doctor team performed a unique Endoscopic Stapling Technique
Next Most Popular News Storiesपत्रकारों की समस्या पर गम्भीरता से विचार करेंगे -लोकसभा अध्यक्ष
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here