मेले में टेडीबियरस देख खिले बच्चों के चेहरे 

0
52
( Surjakund ) Faridabad/Atulyaloktantra News :  अगर आप सूरजकुंड मेले में परिवार सहित घूमने आए हैं तो अपने बच्चों को मुख्य चौपाल के नजदीक राजबाला के स्टॉल नम्बर- 285 पर भ्रमण करवाना ना भूलें। क्योंकि यहां आपके बच्चों के खेलने व सजावट का वह सभी जरूरी सामान व खिलौने मिलेंगे जो आपके बच्चों को पसंद हैं।
स्टॉल संचालक राजबाला पिछले कई वर्षों से यहां अपने पति के साथ स्टॉल लगाती आ रही है। राजबाला व उसके पति ने काफी वर्षों पूर्व हरियाणा सरकार की एक स्कीम के तहत डीआडीए के माध्यम से खिलौने बनाने की ट्रेनिंग ली थी और आज वे उसी ट्रेनिंग के बदौलत सैकड़ों महिलाओं को ट्रेनिंग देते हुए उन्हें खुद का रोजगार देते हुए स्वाभिमान के साथ जीने की प्रेरणा देते हैं।
स्टॉल पर पहुंची मेले में पहली बार भ्रमण करने आई सोनीपत के गांव असदपूर की 10वीं कक्षा की छात्राएं कोमल, रवीना, शालू, मनीषा, अंजलि, श्वेता व दीप्ति ने कहा कि इन खिलौने की कारीगरी जबरदस्त है और ऐसे खिलौने उन्हें अपने यहां आसानी से व इतने कम दाम में नहीं मिले इसलिए वे अपने छोटे भाई के लिए एक टेडीबियर अवश्य खरीदकर ले जाएंगी।
Previous Most Popular News Storiesप्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लिए शिविर का आयोजन
Next Most Popular News Stories7 साल की काव्या गोयल ने बनाया नया भारतीय रिकॉर्ड
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here