लापता बच्चों को सामने पाकर परिजन हुए गदगद

0
57
laapata bachchon ko saamane paakar parijan hue gadagad
laapata bachchon ko saamane paakar parijan hue gadagad

Faridabad/Atulyaloktantra News : पुलिस टीम ने आठवीं कक्षा के लापता 3 छात्रों को अंबाला से बरामद कर सकुशल उनके परिजनों को सौंपा तो अपनी आंखों के तारों को सामने देख परिजन खुशी से गदगद हुए। परिजन पुलिस के मुरीद हुए व उन्होंने इसके लिए फरीदाबाद पुलिस का दिल से आभार जताया।

laapata bachchon ko saamane paakar parijan hue gadagad
laapata bachchon ko saamane paakar parijan hue gadagad

3 अक्टूबर 2018 को घर से अमृतसर गोल्डन टैंपल देखने निकले टैंगोर स्कूल के आठवीं कक्षा के तीन बच्चों के लापता होने की खबर पर पुलिस ने तुरंत थाना सेक्टर 7 में मुकदमा दर्ज कर मामले को अधिकारियों के संज्ञान में लाया गया।

पुलिस आयुक्त श्री अमिताभ सिंह ढिल्लों ने तीन बच्चों की गुमशुदगी के मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत डीसीपी क्राइम , एसीपी सिटी बल्लभगढ़ को निर्देश देते हुए क्राइम ब्रांच, मिसिंग पर्सन सेल सहित 7 टीम तैयार की गई। एसीपी सिटी बल्लभगढ़ के नेतृत्व में सभी टीमों ने तालमेल से कार्य करते हुए पुलिस ने मात्र छह घंटे में अंबाला कैंट से तीनों बच्चों को तलाश कर बरामद किया गया है।

एसीपी सिटी बलबीर सिंह की जीआरपी पुलिस का सहयोग लेकर इन तीनों बच्चों बरामदगी मे अहम भूमिका रही। एसीपी कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में गुरुवार को एसीपी बलवीर सिंह ने बताया कि सेक्टर-तीन स्थित टैंगोर स्कूल के आठवीं कक्षा के तीन बच्चे अर्जुन, तुषार व अमनदीप उम्र 12-13 साल स्कूल की छुट्टी होने के बाद घर नहीं पहुंचे। वह मेट्रो स्टेशन से पुरानी दिल्ली स्टेशन पहुंच गए। यह अपने स्कूल बैग में अपने कुछ कपड़े व पैसे भी ले गए। इसके बाद वह जम्मू को जाने वाली उत्तरक्रांति नामक ट्रेन में बैठने के लिए टिकट लेने की जुगत में थे, लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिली। इधर, इन बच्चों के माता-पिता ने पुलिस चौकी सेक्टर 3 में गुम गुमशुदगी लिखवाई थी।

Previous Most Popular News Storiesराजकोषीय घाटे से निजी निवेश बाधित होगा – RBI
Next Most Popular News Storiesहमारा लक्ष्य भारत के मिशन गगनयान को अंतरिक्ष भेजना – नरेंद्र मोदी
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here