NHPC ने आईआईटी धनबाद के साथ करार ज्ञापन पर किए हस्ताक्षर

0
6

Faridabad/Atulya Loktantra : एनएचपीसी, भारत की अग्रणी जलविद्युत कंपनी ने आईआईटी (आईएसएम), धनबाद के साथ अनुसंधान व विकास कार्यों के लिए जनार्दन चौधरी, निदेशक (तकनीकी), एनएचपीसी एवं प्रो. राजीव शेखर, निदेशक, आईआईटी (आईएसएम) धनबाद की गरिमामयी उपस्थिति में करार ज्ञापन (एमओए) पर हस्ताक्षर किए। एनएचपीसी की ओर से गोबिंद वैद्य, कार्यपालक निदेशक (आरएंडडी), एनएचपीसी और आईआईटी (आईएसएम) धनबाद की ओर से प्रोफेसर शालिवाहन, डीन (आरएंडडी), आईआईटी (आईएसएम) धनबाद ने इस करार ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। समझौते के तहत आईआईटी (आईएसएम) धनबाद, एनएचपीसी को अपनी विशेषज्ञता के अंतर्गत अनुसंधान और विकास तथा परामर्श सेवाएं प्रदान करेगा।

इस अवसर पर बोलते हुए, जनार्दन चौधरी, निदेशक (तकनीकी), एनएचपीसी ने आपसी विकास के अंतर्गत अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए उद्योग-अकादमिक सहयोग की आवश्यकता पर जोर दिया। भारत की अग्रणी जलविद्युत कंपनी एनएचपीसी, बेस और पीक पॉवर आपूर्ति, दोनों के माध्यम से ग्रिड के संतुलन हेतु आवश्यकता उपलब्ध करवा रही है। सिस्टम में अक्षय ऊर्जा के प्रस्तावित बड़े पैमाने पर एकीकरण के पश्चात, जलविद्युत की आवश्यकता और बढ़ जाएगी क्योंकि यह ग्रिड को स्थिरता प्रदान करता है। उन्होंने आगे कहा कि एनएचपीसी अपने संयंत्रों के टरबाइन भागों में क्षरणता की समस्या का भी सामना कर रही है और गाद से संबन्धित समस्याओं से निपटने के लिए सहयोगात्मक अनुसंधान एनएचपीसी के लिए उपयोगी हो सकता है।

इस अवसर पर श्री राजीव शेखर, निदेशक आईआईटी (आईएसएम) धनबाद ने आईआईटी-आईएसएम द्वारा खनन के क्षेत्र में अपनाई गई तकनीक और नीतिगत दृष्टि को विस्तृत किया और सुझाव दिया कि इसी तरह का दृष्टिकोण जलविद्युत क्षेत्र में भी अपनाया जा सकता है। इसके अलावा उन्होंने पावर फ्लो एनालिसिस के लिए टीम की स्थापना में रुचि दिखाई।

Previous Most Popular News Storiesजे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने शुरू की ‘स्टूडेंट विंडो’
Next Most Popular News Storiesनागरिकता संशोधन बिल को मिलेगी मंजूरी? शुरू हुई मोदी कैबिनेट की बैठक
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here