कमिश्नर हुए सख्त तो पकड़ा डिप्टी मेयर से रंगदारी मांगने वाला

0
45

नगर निगम के डिप्टी मेयर मनमोहन गर्ग को पत्र भेजकर केस वापस लेने और पांच लाख रुपए न देने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी देने वाले आरोपी को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की गिरफ्तारी तब हुई जब पुलिस कमिश्नर ने सेंट्रल थाने की पुलिस को फटकार लगाई। डिप्टी मेयर के मुताबिक सेंट्रल थाने की पुलिस आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए तैयार नहीं हाे रही थी। माना जा रहा है आरोपी का सत्ता पार्टी से जुड़े किसी नेता का संरक्षण प्राप्त है।

कमिश्नर हुए सख्त तो पकड़ा डिप्टी मेयर से रंगदारी मांगने वाला
कमिश्नर हुए सख्त तो पकड़ा डिप्टी मेयर से रंगदारी मांगने वाला

कमिश्नर की फटकार के बाद हरकत में आई पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उसे एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। पकड़े गए आरोपी की पहचान गांव अजरौंदा निवासी दीपक उर्फ दीपू के रूप में हुई है। पुलिस अब आरोपी से पूछताछ कर रही है। पिछले साल डिप्टी मेयर मनमाेहन गर्ग के बेटे सिद्धार्थ के ऊपर सेक्टर 15 की मार्केट में आरोपी ने हमला कर हाथ-पैर तोड़ दिए थे। सेंट्रल थाने की पुलिस ने केस भी दर्ज कर लिया था। 9 अक्टूबर को उक्त केस में गवाही होनी शुरू हो गई। गवाही रोकने और केस वापस लेने के लिए डिप्टी मेयर को 13 अक्टूबर को धमकी भरा पत्र मिला। मनमोहन गर्ग ने बताया कि उन्हें डाक से यह पत्र मिला। इसमें लिखा था कि केस वापस ले लो और पांच लाख रुपए दे दो नहीं तो पूरे परिवार को जान से मार देंगे। आरोपी ने धमकी देते हुए यह भी लिखा था कि पहले भी पुलिस ने मेरा क्या कर लिया था और अब भी क्या कर लेगी। मेरी बहुत ऊंची पहुंच है। पत्र मिलने पर डिप्टी मेयर ने इसकी शिकायत सेंट्रल थाने की पुलिस में की। लेकिन पुलिस ने तवज्जो नहीं दी। इसके बाद वह पुलिस कमिश्नर अमिताभ सिंह ढिल्लो से मिले और सेंट्रल थाने की पुलिस की लापरवाही पर सवाल उठाए थे। पुलिस कमिश्नर ने सेंट्रल थाने की पुलिस को फटकार लगाते हुए एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। इस फटकार के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया और मामला क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 को जांच के लिए सौंप दिया गया। क्राइम ब्रांच ने बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे एक दिन की रिमांड पर सौंप दिया गया।

फरीदाबाद. रंगदारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार आरोपी खड़ा हुआ बाएं से दूसरा।

मंत्री ने नहीं की मदद तो डिप्टी मेयर ने बनी ली थी दूरी

इस हमले के कारण ही कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल और डिप्टी मेयर मनमोहन गर्ग में न केवल दूरियां बढ़ीं, बल्कि गर्ग ने पाला भी बदल लिया और वे केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के खेमे में चले गए थे। गर्ग के बेटे पर जब हमला हुआ था तब डिप्टी मेयर ने विपुल गोयल पर इस मामले में आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कराने के लिए मदद मांगी थी, लेकिन ऐसा मुनासिब नहीं हो सका था। इससे डिप्टी मेयर ने गोयल से दूरियां बना लीं और गुर्जर के खेमे में चले गए। कभी गर्ग को डिप्टी मेयर बनवाने में गोयल ने काफी जद्दोजहद की थी। लेकिन इस केस ने दोनों में फूट पैदा कर दी। जो आज भी बरकरार है।

News Source: https://www.bhaskar.com/harayana/faridabad/news/the-commissioner-was-caught-strictly-demanding-detergent-from-deputy-mayor-020139-3049360.html

Previous Most Popular News Storiesबदरौला गांव के पशु वायरस की चपेट में
Next Most Popular News Storiesपरचून का सामान लेने निकली 12 साल की बच्ची का अपहरण, दुष्कर्म का प्रयास
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here