कर्नल वीरेन्द्र के समर्थन में आए पूर्व सेनाधिकारी व स्थानीय लोग

0
154
Former army officers who came in support of Colonel Virendra
Former army officers who came in support of Colonel Virendra

Noida।Atulyaloktantra News: भारतीय सेना के पूर्व अधिकारी कर्नल वीरेन्द्र प्रताप के साथ उनके पड़ोस में रहने वाले हरीश चंद्र (जो वर्तमान में ए डी एम, मुज्जफरनगर है व पूर्व उप सी ई ओ ,नोएडा अथॉरिटी रह चुका है) ने कर्नल वीरेन्द्र के साथ अपने प्रभाव का बेजा इस्तेमाल करने के विरोध स्वरूप स्थानीय निवासियों व पूर्व सेनाधिकारियों द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया।

कर्नल वीरेन्द्र प्रताप के ऊपर व उनके साथियों पर कई झूठे आरोप, एस सी एस टी एक्ट ,अपहरण ,छेड़छाड़ व अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है ,उनके साथ पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्ण व्यवहार किया गया ,मानव अधिकारों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गई ,जबकि उनकी उम्र 76 वर्ष है।

कर्नल साहब सेवानिवृत्त होने पर भी अपना सामाजिक योगदान देते रहे । सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस रंजिश की मुख्य वजह हरीश चंद्र द्वारा किए गए अवैध निर्माण हैं।

कर्नल वीरेन्द्र प्रताप सिंह चौहान का उनके पड़ोस की मकान संख्या 646 सेक्टर 29 नोएडा में रहने वाले हरीश चन्द्र से विगत 3 वर्षो से हरीश चन्द्र के द्वारा किये गए अवैध कब्जे एवं निर्माण को लेकर विवाद चला आ रहा था ! हरीश चन्द्र वर्तमान में ADM मुजफ्फरनगर तथा पूर्व में नोएडा अथारिटी में Dy CEO रह चुका है अवैध कब्जे एवं निर्माण को लेकर कर्नल वीरेन्द्र प्रताप सिंह चौहान ने नोएडा अथारिटी में कई बार शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन हरीश चन्द्र ने अपने रसूख का इस्तेमाल कर कोई कार्यवाही नहीं होने दी |

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कर्नल वीरेन्द्र के समर्थन में आए लोगों की प्रमुख मांगें यह हैं।

  1. सम्पूर्ण घटना की न्यायिक जांच कराई जाये,
  2. कर्नल वीरेन्द्र प्रताप सिंह चौहान , उनके घरेलू सहायक ‘राजीव’ व् अन्य ‘विजय’ , त्रिपाठी पर लगाई गयी SC & ST एक्ट व् अपहरण , छेड़छाड़ अन्य सारी झूठी धराये हटाई जाएँ तथा तुरंत रिहा किया जाय,
  3. हरीश चन्द्र एवं उनकी पत्नी उषा चन्द्र ,सरकारी गनर रोहित नागर व् अन्य स्टाफ को कर्नल वीरेन्द्र प्रताप सिंह चौहान के साथ मारपीट के आरोप में मुकदमा दर्ज कर तुरंत गिरफ्तार किया जाय |
  4. हरीश चन्द्र ADM मुजफ्फ़र नगर घटना के समय नोएडा में क्या कर रहे थे जबकी उनकी ड्यूटी मुजफ्फरनगर में थी इसकी गहन जांच की जाय,
  5. हरीश चन्द्र के द्वारा किया गया कराया गए अवैध निर्माण को ध्यस्त कराया जाय |
  6. हरीश चन्द्र के खिलाफ महगे सेक्टर में फ्लैट खरीदने व् कराये गए महगे निर्माण को लेकर आय से अधिक संपत्ति की जांच की जाय |
  7. सेक्टर 20 थाने के थानेदार मनीष सक्सेना, CO-1 अनिल कुमार तथा संलिप्त पुलिस की CCTV की फुटेज व् अन्य सबूत होने होने बाबजूद बगैर जांच किये, बगैर कर्नल वीरेन्द्र प्रताप सिंह चौहान का पक्ष सुने, दबाब में आकर एकतरफ़ा कार्यवाही करने, झूठी धाराओ लगाने, दुर्व्यवहार करने, हथकड़ीt लगाकर गिरफ्तार करने, 76 वर्ष के भूतपूर्व सेन्यअधिकारी को सरेआम अपमानित करने, प्रताड़ित करने के आरोप में नौकरी से बर्खास्त किया जाय !
Previous Most Popular News StoriesNSUI नेताओं के धरने को कांग्रेस का समर्थन
Next Most Popular News Storiesगंगा की गोद में समाए पूर्व प्राइम मिनिस्टर वाजपेयी, बेटी ने दी अंतिम विदाई
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here