यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा 2018: ड्रेस कोड, क्या पहनें, क्या नहीं

0
241
UP Police Constable Recruitment Examination 2018 Dress Code, Wear, What Not
UP Police Constable Recruitment Examination 2018 Dress Code, Wear, What Not

उत्तर प्रदेश में 18 और 19 जून को 41,520 पदों के लिए सिपाही भर्ती परीक्षा होने जारी रही है। 56 जिलों के 860 केंद्रों पर सिपाही भर्ती के लिए लिखित परीक्षा होनी है। 18000 पीएसी आरक्षी और 23520 नागरिक पुलिस आरक्षी (महिला व पुरुष) के पद के लिए 23 लाख 67 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। परीक्षा कराने की जिम्मेदारी टीसीएस को दी गई है। Read in English

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा 2018: ड्रेस कोड, क्या पहनें, क्या नहीं

पहली बार ओएमआर शीट 24 सीरीज की होगी। यदि एक कमरे में 24 परीक्षार्थी बैठे तो किसी भी ओएमआर शीट के प्रश्न क्रमानुसार मैच नहीं कर पाएंगे।

  1. हल्के कपड़े जैसे पतलून, सलवार सूट इत्यादि। बड़े बटन, ब्रोच / बैज, फूल इत्यादि नहीं
    होने चाहिए।
  2. चप्पल, कम ऊंची एड़ी के सात सैंडल।
  3. जूतों के साथ प्रवेश की अनुमति नहीं है।

UP Police Constable Recruitment Examination 2018: Dress Code, Wear, What Not

In Uttar Pradesh, on Sep 18 and 19, the Civil Defense Recruitment Examination is going on for 41,520 posts. Written examination will be done for sepoy recruitment at 860 centers of 56 districts. 23 lakh 67 thousand candidates have applied for the post of 18000 PAC reserved and 23520 citizen police constables (women and men). TCS has been given the responsibility to take the exam.

The first OMR sheet will be of 24 series. If 24 examinees are sitting in a room then questions of any OMR sheet will not be able to match in sequence.

  • Light clothes such as trousers, salwar suits etc. Big buttons, broaches / badges, flowers, etc.
    Should be there.
  • Slippers, seven sandals of low heels.
  • Admission with shoes is not allowed.
Previous Most Popular News Storiesअब हरियाणा में बनेगी लॉजिस्टिक वेयरहाउस व रिटेल पॉलिसी
Next Most Popular News Storiesपलवल के स्टेशन को हैरिटेज स्टेशन बनाने का अनुरोध
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here