फानी पर सियासत, ममता का PM मोदी के साथ रिव्यू मीटिंग करने से इनकार

Deepak Sharma

New Delhi/Atulya Loktantra : चक्रवात तूफान ‘फानी’ तो तबाही मचाकर चला गया, लेकिन अपने पीछे देश में राजनीति को हवा दे गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज फानी तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने ओडिशा पहुंचे हैं. केंद्र सरकार ने बंगाल में भी फानी तूफान से हुए नुकसान के लिए एक रिव्यू बैठक का प्रस्ताव रखा था, लेकिन राज्य की ममता बनर्जी सरकार ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है.

भारत सरकार के सूत्रों की मानें तो भारत सरकार की तरफ से पश्चिम बंगाल की ममता सरकार को प्रस्ताव दिया गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओडिशा के बाद वहां पर भी रिव्यू बैठक करना चाहते हैं. लेकिन राज्य सरकार की तरफ से जवाब दिया गया है कि अभी राज्य के अधिकारी चुनाव में व्यस्त हैं, इसी कारण रिव्यू बैठक नहीं की जा सकती है.

बता दें कि ओडिशा में तबाही मचाने के बाद फानी तूफान ने बंगाल की ओर रुख किया था, जिसके बाद वह बांग्लादेश की ओर चला गया था. बंगाल के कई इलाकों में फानी की वजह से तेज आंधी और बारिश देखने को मिली थी, हालांकि यहां कोई हताहत नहीं हुआ था.

इस बैठक से पहले रविवार को खबर आई थी कि फानी तूफान की जानकारी को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से ममता बनर्जी को फोन किया गया था. लेकिन पीएम मोदी की ममता बनर्जी से बात नहीं हो पाई थी. जब मुख्यमंत्री से बात नहीं हो पाई तो पीएम मोदी ने राज्य के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से राज्य के हालात की जानकारी ली थी.

जिसके बाद से ही टीएमसी और बीजेपी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई थी. टीएमसी ने आरोप लगाया था कि पीएम नरेंद्र मोदी का कोई फोन नहीं आया था.

बता दें कि इस बार पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी और टीएमसी के बीच राजनीतिक जंग जारी है. हाल ही में एक वीडियो सामने आया था जिसमें ममता बनर्जी के सामने जय श्री राम के नारे लगाने वाले लोगों पर वह भड़क गई थीं. इससे पहले भी ममता की तरफ से कई बीजेपी नेताओं की रैली में अड़ंगे लगाने का आरोप लगा था.

Leave a Comment