एश्लाॅन इंस्टीट्यूट के विद्यार्थियों के समायोजन के लिए जे.सी. बोस विश्वविद्यालय YMCA में आनलाइन आवेदन आमंत्रित

0
16

Faridabad/Atulya Loktantra : जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा एश्लाॅन इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाॅजी (ईआईटी), फरीदाबाद के शैक्षणिक सत्र 2017-18 एवं 2018-19 के विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय से संबद्ध अन्य काॅलेजों में समायोजित/स्थानांतरित करने के लिए 23 से 25 अक्तूबर, 2019 तक आनलाइन आवेदन आमंत्रित किये है।

इस संबंध में बताया जाता है कि आनलाइन आवेदन के लिए विद्यार्थी को विश्वविद्यालय पंजीकृत संख्या, पाठ्यक्रम, योग्यता संबंधी विवरण के साथ-साथ विश्वविद्यालय के साथ संबद्ध इंस्टीट्यट व कालेजों की सूची में से अपनी पसंद के कालेज को वरीयता क्रम में बताना होगा। विश्वविद्यालय के साथ संबद्ध कालेजों में विद्यार्थियों का समायोजन/स्थानांतरण विद्यार्थी की पसंद एवं संबंधित कालेज में रिक्त सीटों के आधार पर किया जायेगा। विद्यार्थियों की सुविधा के लिए विश्वविद्यालय से संबद्ध काॅलेजों में रिक्त सीटों का विवरण भी विश्वविद्यालय की वेबसाइट https://jcboseust.ac.in पर उपलब्ध करवाया जा रहा है। इस संबंध में विद्यार्थी किसी भी तरह के स्पष्टीकरण के लिए विश्वविद्यालय की संबद्धता शाखा में संपर्क कर सकते है।

विश्वविद्यालय ने स्पष्ट किया है कि केवल उन्हीं विद्यर्थियों को विश्वविद्यालय से संबद्ध अन्य कॉलेजों में समायोजित / स्थानांतरित किया जायेगा जोकि शैक्षणिक सत्र 2017-18 और 2018-19 में एश्लाॅन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलोजी (ईआईटी), फरीदाबाद में दाखिल हुए थे और विश्वविद्यालय के साथ पंजीकृत है। यहां यह स्पष्ट करना जरूरी है कि विश्वविद्यालय द्वारा संबद्धता मानदंड पूरा न करने के कारण एश्लाॅन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलोजी (ईआईटी), फरीदाबाद को वर्ष 2019-20 के लिए संबद्धता नहीं दी गई है और शैक्षणिक सत्र 2019-20 में विश्वविद्यालय के साथ एश्लाॅन इंस्टीट्यूट का कोई भी विद्यार्थी पंजीकृत नहीं है।

Previous Most Popular News Storiesफरीदाबाद जिले में सोमवार को विधानसभा आम चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से हुआ सम्पन्न
Next Most Popular News Storiesपटाखे जलाने पर लग सकती है 10 करोड़ की चपत और हो सकती है जेल
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here